अलर्ट : निसरपुर शुरु हो गया डूबना


17 सितंबर को मोदी जी के जन्मदिन के जश्न के तौर पर सरदार सरोवर बांध का उद्घाटन किया जाना है। जिसकी तैयारियों के लिए अब डूब क्षेत्र में पानी भरना शुरु हो गया। बिना किसी पुनर्वास या पुनर्स्थापन के 40 हजार लोगों को डूब क्षेत्र में छोड़ दिया गया है। इस जश्न की तैयारीस्वरूप आज निसरपुर में पानी भरना शुरु हो चुका है। हम इस देश के सभी इंसाफपसंद नागरिकों से अपील करते हैं कि वह नर्मदा घाटी के इन विस्थापितों के साथ हो रहे अन्याय का पुरजोर विरोध करें तथा सरकार से मांग करें कि बिना उचित पुनर्वास तथा पुनर्स्थापन के डूब क्षेत्र को न भरा जाए। हम यहां आपके साथ नर्मदा बचाओ आंदोलन से हिमशी की रिपोर्ट साझा कर रहे हैंः

मोदी के जन्मदिन का जश्न बन रहा है लोगो के लिए मौत का कारण

नर्मदा घाटी, निसरपुर के इमली बाजार, मस्जिद चौक के पास निचले धरातल पर बसे 25 घर आज डूब की कगार पर स्थित है। आज का पानी का स्तर 128.50 मीटर पहुच गया है और घरों में पानी घुसना शुरू हो गया है।

यह सब 17 सितंबर को नरेंद्र मोदी द्वारा होने वाले सरदार सरोवर बांध के लोकार्पण के लिए किया जा रहा है जिसमे बांध भरा हुआ दिखे यह उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण है।

अभी ना तो पुनर्वास स्थल तैयार है ना ही लोग अपने घरों का निर्माण कर पाए है। नीचे दिए वीडियो में मोहन भाई की व्यथा सुने जो पानी घर तक पहुचने के बाद भी कल रात से घर के सामने बैठे हुए है।


Share on Google Plus

jitendra chahar के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।