पिछले एक माह से दिल्ली में अनशन पर बैठे तमिल किसानों की वे तस्वीरे जो आपको विचलित कर देगी




अगर ये चित्र आपको विचलित करे तो अच्छा है आखिर कब तक हम और आप चैन से जिएंगे वो भी तब जब इस देश के अन्नदाता भूखे मर रहे हो!

ये तमिलनाडु के किसान है.

करीब एक महीने से दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना दे रहे है और सिर्फ धरना ही नहीं दे रहे है बल्कि

1. उन किसानो के कंकाल भी साथ लाये है जो अब नहीं रहे
2. अपने आधे सर मुंडवा चुके हैं
3. चूहें खा चुके हैं
4. इनमे से कई भूख हड़ताल पर भी बैठे हैं

ये सब सिर्फ इसलिए ताकि ये एक बार प्रधानमंत्री से मिल सके और केंद्र पर दबाव बना सके जिससे की इनके क़र्ज़ माफ़ हो जाये और पिछले डेढ़ सौ साल के सबसे भयावह सूखे से जो इनका राष्ट्र गुज़र रहा है और जो ये अपने फसलों को बर्बाद होते देख रहे हैं उनका मुआवज़ा इन्हें मिल सके.

कुछ घंटे पहले प्रधानमंत्री कार्यालय के बाहर ये नंगे भी प्रदर्शन कर चुके हैं। आखिर कब सुनी जाएगी इनकी गुहार। एक महीना तो हो गया इन्हें दिल्ली में पड़े हुए। जब देश की राजधानी में इन्हें सुनने वाला कोई नहीं तो दूरस्थ इलाको में पड़े हुए किसानो को कैसे न्याय मिलेगा?

जब हमारे देश के पालनहार ही ऐसी दुर्दशा झेल रहे हो तो फिर देश का विकास कैसे होगा?









Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।