राधेश्याम शुक्लाबास पर खनन माफियाओं के हमले के विरोध में राजस्थान के जनसंगठनों का संयुक्त वक्तव्य

पी.यू.सी.एल. राजस्थान, मजदूर किसान शक्ति संगठन, राजस्थान समग्र सेवा संघ, जनआंदोलनो का राष्ट्रीय समन्वयन, राजस्थान नागरिक मंच, सूचना रोजगार अधिकार अभियान राजस्थान, हूमन राईटस ला नेटवर्क, राजस्थान नागरिक मंच, डॉ. अम्बेडकर विचार मंच ने साझा वक्तव्य जारी कर अपील करते है कि इसे ई-मेल और फेसबुक इत्यादि के द्वारा अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं;

राजस्थान के जन संगठन 2 फरवरी, 2017 (गुरूवार) को मानवाधिकार व पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ता श्री राधेश्याम शुक्लावास जो लम्बे समय से जयपुर जिले के कोटपुतली क्षेत्र में अवैध खनन व क्रेशर एवं पर्यावरण दूषित करने वाला औद्योगिक उत्पादन के विरोध में कार्य कर रहे है। पिछले कुछ वर्षो से मानवाधिकार हनन व पर्यावरण क्षरण के विरोध में बेहद सक्रिय है और उन्हे काफी समय से असामाजिक तत्वो व खनन माफियाओं से जान से मारने की धमकिया मिल रही थी।

उर्पयुक्त कार्यालय में कोटपुतली क्षेत्र के कृष्णा मिनरलस जिसको 20 जनवरी 2017 को बन्द करने के आदेश जारी किये जा चूके है। उस आदेश की अनुपालना करवाने के लिए  दिनांक 2.2.2017 को राधेश्याम शुक्लावास प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के क्षेत्रिय कार्यालय वी.के.आई. रोड़ नं. 5 पर क्षेत्रिय अधिकारी (आर.ओ.) से मिलने गये थे। इस कार्यालय में पहले से ही मौजूद कृष्णा मिनरलस जो कि एक अवैध क्रेशर हैं के संचालक मोहन सिंह शेखावत व दो अन्य लोगों ने राधेश्याम शुक्लावास पर जान लेवा हमला किया जिसमे वे घायल हुये है जिनके बांये कान पर 5 टांके आये है।

इस प्रकार एक सरकारी कार्यालय में हमला किया जाना ना केवल राजकार्य में बाधा है बल्कि पर्यावरण संरक्षण राष्ट्रीय महत्व के मुद्दे को लागू करवाने में एक बडी बाधा है। सरकारी कार्यालय में असामाजिकव गुण्डा तत्वों द्वारा सामाजिक कार्यकर्ताओं की पीटाई करना व जानसे मारने की धमकी देना राज्य के लोकतंत्र को गंभीर चुनौती है। इस संदर्भ में यह कहना समीचीन है कि राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल ने अपनी ओर से पुलिस में किसी तरह की प्राथमिकी दर्ज नहीं करवाई है। इससे गुण्डा तत्वों के होसले बुलन्द हो रहे है। दिनांक 2 फरवरी 2017 को राधेश्याम शुक्लावास ने अपनी ओर से पुलिस थाना मुरलीपुरा में 55/2017 प्राथमिकि दर्ज करवाई तथा उनका ईलाज व मेडीको लिगल मुआयना स्थानिय कावंटिया अस्पताल में  करवाया गया है।

राजस्थान के विभिन्न जनसंगठन हुये हमले की कडी निन्दा करते है वसाथ ही सरकार से मांग करते है कि :-

  1. प्रदूषण नियंत्रण मण्डल की ओर से कृष्णा मिनरल केसंचालको के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाये।
  2. राधेश्याम शुक्लावास पर हमला करने वाले मोहन सिंहशेखावत व दो अन्य लोगों को अतिशीघ्र गिरफ्तार किया जायेव राधे’याम शुक्लावास को पुलिस सुरक्षा मुहैया करवाईजाये।
  3. कृष्णा मिनरल को बन्द करने के आदेश जारी किये जा चूकेहै अतः इसे अतिशीघ्र आदेशो की पालना कर बन्द करवायाजाये।
  4. इस प्रकार के सरकारी कार्यालयों में आने वाले आमजन वसामाजिक कार्यकताओं को सुरक्षा मुहैया करवाई जाये।
  5. कोटपुतली व नीम का थाना क्षेत्र में अवेध खनन व इससेजुडी गतिविधियों पर तुरन्त रोक लगाई जाये
  6. कोटपुतली व नीम का थाना क्षेत्र में चल रहे अवेध खनन परएक स्वतंत्र सेवानिवृत न्यायाधिश  से विस्तृत न्यायिक जांचकरवाई जाये। जिससे लोक स्वास्थ्य, पर्यावरण, कृषि को होनेवाले नुकसान का आंकलन किया जा सके।

सम्पर्क  कैलाश मीणा-9928136988, कपिलसिहं- 9828457268, मुकेश  निर्वासित-9468862200






Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।