झारखण्ड : विकास के नाम पर जारी राज्य हिंसा के खिलाफ राज भवन का घेराव



झारखण्ड की भाजपा सरकार ने आदिवासियों की जमीन हड़पने के लिए छोटा नागपुर व संथाल परगना काश्तकारी अधिनियम में संशोधन के लिए अध्यादेश जारी किया  जिसके विरोध में झारखंड के विभिन्न स्थानों पर आदिवासियों ने विरोध-प्रदर्शन किए। इस विरोध को दबाने के लिए सरकार ने आंदोलनकारियों की पुलिस की गोलियों से हत्या करवाना शुरू कर दिया। सरकार की इन जन विरोधी कार्यवाहियों के विरुद्ध 25 अक्टूबर को विस्थापन विरोधी जन विकास आंदोलन के अहवान पर राज भवन, रांची पर विशाल धरना आयोजित कर राज्यपाल को ज्ञापन दिया गया;




Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।