जीएम सरसों को भारतीय कृषि में प्रवेश कराए जाने के विरोध में 20 राज्यों के किसान संगठनों का जंतर मंतर पर विशाल जनप्रदर्शन



नई दिल्ली, 25 अक्टूबर 2016; जीएम सरसों को वाणिज्यिक रूप से जारी करने पर प्रतिबंध की मांग करने के लिए 20 राज्यों के 118 संगठनों के प्रतिनिधियों ने आज जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया।

इस विरोध प्रदर्शन में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, प्रमुख किसान संघों, ट्रेड यूनियनों, मधुमक्खी उद्योग, वैज्ञानिकों और अन्य सिविल सोसायटी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

एलायंस फॉर सस्टेनेबल एंड होलिस्टिक एग्रीकल्चर (आशा) ने कहा कि भारत में जीन प्रौद्योगिकी की नियामक संस्था, जेनेटिक इंजीनियरिंग एप्राइजल समिति (जीईएसी) बिना पूरे जैव सुरक्षा आंकड़ों को प्रकाशित किये और जीएम सरसों पर विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट पर स्वतंत्र जांच के लिए पर्याप्त समय दिये, मंजूरी प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय भी उन दो याचिकाओं की सुनवाई कर रहा है जिसमें जीएम सरसों की मंजूरी को रोकने की मांग की गई है।

 






Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।