बांगड़-बिरला सीमेंट प्लांटों के खिलाफ धरने को 6 साल : किसान छात्रावास का आंदोलन को समर्थन, 29 अगस्त को किसानों की विशाल रैली


-दीपसिंह शेखावत 

राजस्थान के झुंझुनू जिले के नवलगढ़ तहसील भवन के सामने किसान अपनी  72 हजार उपजाऊ जमीन बांगड़-बिरला से बचाने के लिए 6 साल से घरने पर बैठे है। भूमि अधिग्रहण विरोधी किसान संघर्ष की छठी वर्ष गांठ के अवसर पर 29 अगस्त 2016 को एक विशाल रैली का आयोजन किया जा रहा है। यह रैली नवलगढ़ के रामदेवरा से शुरू हो कर तहसील कार्यालय तक जायेगी। समय रहेगा सुबह 10 बजे। ईलाके के सभी लोगों से अनुरोध है कि जिनके पास जो भी वाहन है जैसे ऊंट गाड़ी, बैल गाड़ी, मोटर साइकिल, ट्रैक्टर, बस, कार, जीप, ट्रक आदि जो भी वाहन है । हर ग्राम व ढाणी स्तर पर लिस्ट बनाई जा रही है। अपने अपने ईलाके की लिस्ट तैयार करें तथा एक कापि हमें भी उपलब्ध करायें। साथ ही वाहन वालों से संपर्क करें। जो जो लोग अपने वाहन लाकर लोगों को लाने लेजाने में सहयोग करेंगे उनके नाम फेसबुक व व्हाटस् ऐप पर व रैली के दौरान प्रसारित किए जायेंगे। नोट इस काम को अंजाम देने की जिम्मेदारी उन लोगों की ज्यादा बनती है जो फेसबुक व व्हाटस ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस कार्यवाही में जो भी युवा आगे आकर काम करेंगे संघर्ष समिति के वरिष्ठ लोग रैली के दौरान उन्हें सम्मानित करेंगे व शाबाशी देंगे।

29 अगस्त 2016 को नवलगढ़ में भूमि अधिग्रहण के खिलाफ रैली में राजस्थान के अलावा अन्य राज्यों से किसान-मजदूर संगठनों एवं नागरिक अधिकार संगठनों के प्रतिनिधि भाग लेगे ।

ज्ञात रहे कि नवलगढ तहसील कि पांच ग्राम पंचायतें जिनमें गोठडा, बसावा, पुजारी की ढाणी, मोहनवाडी, खिरोड का ईलाका सीमेंट कम्पनियों के लिए किये जा रहे अधिग्रहण से प्रभावित है। तथा सीकर जिले की बेरी व कोलीडा का ईलाका सिंमेट कम्पनियों के लिए रेल्वे लाईन से प्रभावित है। जो कुल मिलाकर 70 हजार बिघा जमीन का अधिग्रहण किया जाना प्रस्तावित है।



Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।