नवलगढ़ की महिलाओं ने किया मुख्यमंत्री से सवाल : किसके हक में है यह विकास ?


राजस्थान के नवलगढ़ में पिछले 2500 से भी ज्यादा दिनों से बांगड़-बिड़ला सीमेंट प्लांट के विरुद्ध हो रहे अवैध भूमि अधिग्रहण के खिलाफ इलाके के किसान  धरने पर बैठे हुए हैं। 83 महीनों से ज्यादा समय से चल रहे इस संघर्ष में किसान एकजुटता के साथ एक ही बात पर खड़े हैं कि हम जान दे देंगे लेकिन  अपनी 72 हजार  बीघा उपजाऊ जमीन नहीं देंगे। इस आंदोलन की सबसे बड़ी ताकत इस क्षेत्र की महिलाएं हैं जो पूरे धैर्य और जोशो-खरोश के साथ आंदोलन को आगे बढ़ाने में मदद दे रही हैं। 18 जुलाई को गोठड़ा गांव की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर कहा है कि एक प्राइवेट सीमेंट कंपनी को स्थापित करने के लिए हजारों परिवारों के घर-बार रोजगार व बिना पुनर्वास के उजाड़ना विकास हो ही नहीं सकता। प्रस्तुत है गोठड़ा गांव के महिलाओं का मुख्यमंत्री को लिखे पत्र की मूल प्रति;








Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।