भोपाल गैस कांड अपील : व्हाइट हाउस की वेबसाइट पर एक लाख हस्ताक्षर जुटाने में मदद करें ताकि अमेरिकी सरकार जवाब दे

अपील पर यहां हस्ताक्षर करें


अपील पर यहां हस्ताक्षर करें

दिसंबर 1984 में भोपाल-स्थित डाव-कार्बाइड फैक्टरी में जहरीली  गैस के रिसाव से 8,000 से ज़्यादा लोग मारे गए और लाखों लोग अपंग हुए. यह 'दुर्घटना' पूरी तरह कंपनी द्वारा की गयी फंड-कटौती और सुरक्षा लापरवाही का नतीजा थी, जिसमें सुरक्षा मानकों का कई सालों तक जानते-बूझते उल्लंघन किया गया था. कंपनी ने उन गैसों की पहचान बताने से यह कहकर मना कर दिया कि ये उसके धंधे का राज है. इस कारण दवा के अभाव में अन्य हज़ारों मौतें हुईं। कंपनी ने लगभग तीन लाख लोगों के द्वारा इस्तेमाल होने वाले भूगर्भ जल को भी प्रदूषित कर दिया। डाव-कार्बाइड ने इस मामले में अदालत में हाज़िर होने और आपराधिक मुकदमे का सामना करने से मना कर दिया है. अंतर्राष्ट्रीय संधियों के मुताबिक़ अमेरिकी सरकार द्वारा इस मुद्दे पर डाउ कंपनी को कानूनी नोटिस भेजा जाना ज़रूरी है.


इस अंतर्राष्ट्रीय अपील में अमेरिकी सरकार से डाव केमिकल को बचाने से बाज आने को कहा गया है और यह मांग की गयी है कि डाव कंपनी को 13 जुलाई तक कानूनी नोटिस जारी करे.

आपसे अनुरोध है कि इस अपील पर साइन करें, इसे अपने दोस्तों से साझा करें और  साथ ही इस वीडियो का भी प्रसार करें 
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।