मारो-मारो, पकड़ो-पकड़ो की आवाज़ आने लगी है....टीवी के इतिहास में यह प्राइम टाइम हमेशा याद रखा जाएगा ! जरूर देखिए !


टीवी के इतिहास में यह प्राइम टाइम हमेशा याद रखा जाएगा ! जरूर देखिए !

डिबेट से जवाबदेही तय होती है, लेकिन जवाबदेही के नाम पर अब निशानदेही हो रही है। टारगेट किया जा रहा है। इस डिबेट का आगमन हुआ था मुद्दों पर समझ साफ करने के लिए, लेकिन जल्दी ही डिबेट जनमत की मौत का खेल बन गया। देखिए प्राइम टाइम में ये खास रिपोर्ट...
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।