किसान कारीगर पंचायत : 15-16 नवम्बर 2015, भैंसासुर घाट, वाराणसी

किसान कारीगर पंचायत
रविवार-सोमवार, 15-16 नवम्बर 2015
गंगाजी के तट पर, भैंसासुर घाट, वाराणसी


किसानों और कारीगरों की आमदनी पक्की व नियमित हो
और
यह आमदनी सरकारी कर्मचारी के बराबर हो।


यह पंचायत इस आवाज़ को बुलंद करने के लिये है कि वेतन आयोग द्वारा तय वेतन के बराबर आय पाने के हकदार सभी हैं।
आन्ध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, बिहार और उत्तर प्रदेश से किसान और कारीगर संगठन भाग लेने आ रहे हैं।

कार्यक्रम

रविवार, 15 नवम्बर 2015 - शाम 4 बजे भैंसासुर घाट से मैदागिन टाउनहॉल तक जुलूस और गांधी-कस्तूरबा प्रतिमा के सामने आम सभा।
सोमवार 16 नवम्बर 2015 - सुबह 8 बजे से भैंसासुर घाट पर लोकविद्या सत्संग - लोकविद्या की गायकी।
12 बजे से भैंसासुर घाट पर सभा जिसे कारीगर समाजों और किसान संगठनों के नेता सम्बोधित करेंगे।

पंचायत में निम्नलिखित बिन्दुओं पर चर्चा की जायेगी और समाज हित के फैसले लिये जायेंगे-


  1. असंगठित और संगठित क्षेत्र के बीच भेदभाव बंद हो।
  2. देश की और सूबे की सरकारों की यह जिम्मेदारी बनती है कि अपने ज्ञान और हुनर के बल पर यानि लोकविद्या के बल पर जीविका चलाने वाले सभी किसानों और कारीगरों की आमदनी उतनी ही हो जितनी तनख्वाहें वे अपने कर्मचारियों को देती हैं। इसका मतलब यह है कि किसानों और कारीगरों की आज की कमाई और सरकारी कर्मचारी के वेतन का अंतर सरकारों को पूरा करना होगा। 
  3. समय पर और सही दाम में बिजली व कच्चा माल मिले। हमारे उत्पादन को सही दाम और हमारी सेवाओं का सही मूल्य चाहिये।
  4. राष्ट्रीय संसाधन, जैसे बिजली, पानी, शिक्षा, वित्त तथा नागरिक सुविधायें (सड़क, सफाई, सुरक्षा...) आदि सभी को बराबर मिलें। किसानों और कारीगरों को भी यह सब उतना ही मिले जितना उच्च शिक्षित समाजों को, मॉल को और कारपोरेट व्यवस्थाओं को दिया जाता है।

निवेदक

  1. लोकविद्या जन आन्दोलन, वाराणसी, उत्तरप्रदेश ( दिलीप कुमार ‘दिली’ 9452824380)
  2. बुनकर वेलफेयर संघर्ष समिति, वाराणसी ( एहसान अली 8303244310)
  3. कारीगर नज़रिया, वाराणसी ( आलम अंसारी 7668853291)
  4. भारतीय किसान यूनियन जिला वाराणसी ( लक्ष्मण प्रसाद 9026219913)
  5. राष्ट्रीय चेनथा कार्मिक समाख्या, चिराला, आन्ध्रप्रदेश ( मोहन राव 9441041266)
  6. लोकविद्या प्रपंचम, हैदराबाद, तेलंगाना (नारायण राव 9849389550)
  7. लोकविद्या समन्वय समूह, इन्दौर, मध्यप्रदेश ( संजीव दाजी 9926426858)
  8. लोकविद्या जन आन्दोलन, नागपुर, महाराष्ट्र ( विलास भोंगाडे 9890336873 )
  9. नारी हस्तकला उद्योग समिति, वाराणसी ( प्रेमलता सिंह 9369124998)
  10. मां गंगा निषादराज सेवा समिति, वाराणसी ( विनोद निषाद गुरू 9335855912)
  11. गुमटी व्यवसायी कल्याण समिति, वाराणसी ( चिंतामणि सेठ 9450857038)
  12. उत्तर प्रदेश धोबी कल्याण समिति, वाराणसी ( छक्कन कन्नौजिया 9335215946)
  13. जिला धोबी घाट बचाओ संघर्ष समिति, वाराणसी ( राजकुमार कन्नौजिया 8417805781)
  14. किसान संघर्ष समिति मोहन सराय, वाराणसी ( प्रेमचंद गुप्ता 9651520701)
  15. किसान संघर्ष समिति डोमरी, वाराणसी ( बिन्द्रा प्रसाद पटेल 8009397782)
  16. कूड़ा डम्पिंग विरोधी संघर्ष समिति करसड़ा, वाराणसी ( भृगुनाथ पटेल)
  17. वाराणसी आटो रिपेयरिंग असोसिएट, ( श्यामसुन्दर 9559457500)
  18. राजभर एकता समिति, वाराणसी ( मुन्नु राजभर )
  19. वाराणसी काष्ठ खिलौना खराद दस्तकारी समिति, कश्मीरीगंज ( श्यामबाबू 9696129955)
  20. अ. भा. विश्वकर्मा महासभा वाराणसी ( रामराज विश्वकर्मा 8090237324)
  21. विश्वकर्मा समाज, बबियाँव, चोलापुर, वाराणसी (तरनतार विश्वकर्मा 9621365418)
  22. गाँंव-गिराँंव अखबार, रामनगर, वाराणसी (गोपाल मौर्य 8765330110)
  23. मज़दूर मानव सेवा समिति, वाराणसी (राजेन्द्र प्रसाद पटेल 8115692405)





Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।