रोमा मलिक और अन्य आदिवासी नेताओं के विरुद्ध गिरफ्तारी के विरोध में प्रेस वार्ता

3 जुलाई 2015 को इंडियन वुमेन प्रेस कॉर्प में भूमि अधिकार आंदोलन द्वारा जन कार्यकर्ता रोमा मलिक, आदिवासी नेता सुकालो देवी  तथा अन्य आदिवासी नेताओं की गिरफ्तारी के विरुद्ध एक प्रेस वार्ता आयोजित की गई। प्रेस में वक्ताओं ने इस घटना की तीव्र निंदा करते हुए सरकार के जनता के हितों के बजाय पूंजीपतियों के हितों की रक्षा करने की बात कही। वक्ताओं ने कहा कि कन्हर में बन रहा बांध सिर्फ पूंजीपतियों के हितों के लिए। इससे आम किसान और आदिवासी अपनी जमीनों से बेदखल होकर दर-दर भटकने को मजबूर होंगे। वक्ताओँ ने उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा महिलाओं के साथ की गई अभद्रता की तीव्र निंदा करते हुए पुलिस के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की। वार्ता को नर्मदा बचाओ आंदोलन से मेधा पाटकर, सीपीआई (एम) से हनन मुल्लाह, इंसाफ से अनिल चौधरी, अखिल भारतीय वन श्रमजीवी यूनियन से अशोक चौधरी, महान संघर्ष समिति से प्रिया पिल्लई, समाजवादी समागम से डॉ. सुनीलम, अखिल भारतीय कृषक खेत मजदूर संगठन से सत्य वान ने संबोधित किया।



Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।