मोदी सरकार ने किसान विरोधी नीति को बरक़रार रखते हुए, तमाम विरोधों के बावजूद कल रात दुबारा भूमि अधिग्रहण अध्यादेश लाया है। देश के किसान संगठनों, जान आन्दोलनों ने 2 अप्रैल की राष्ट्रीय बैठक में तय किया है की वो इसका राष्ट्रव्यापी विरोध करेंगे और सोमवार 6 अप्रैल को अध्यादेश की प्रति गांव, मोहल्ला, जिला, राज्य हर जगह उसकी प्रति जलाएंगे या दफनायेंगे। इसकी खबर मीडिया, फेसबुक और whatsapp से सभी जगह प्रसारित करें। घर घर से विरोध की आवाज़ उठनी चाहिए। हम लड़ेंगे और जीतेंगे। भूमि अधिकार आंदोलन




प्रधान मंत्री द्वारा दुबारा पेश किया गया भूमि अधिग्रहण अध्यादेश


Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।