झारखण्ड : विस्थापन विरोधी एकता मंच ने अध्यादेशों की प्रतियां जलायी !

गुजरी 2 फ़रवरी को झारखण्ड के जमशेदपुर के उपायुक्त कार्यलय पर विस्थापन विरोधी एकता मंच एवं प्रगतिशील नागरिक मंच के साझा विरोध-प्रदर्शन के तहत श्रम कानून  संशोधन प्रावधानों और भूमि अधिग्रहण अध्यादेश, खान एवं खनिज अघ्यादेश तथा कोयला आंवटन अध्यादेश की प्रतियों जलाया गया.

विस्थापन विरोधी एकता मंच के अरविंद अंजुंम  ने बताया कि यह कार्यक्रम श्रम कानुन में पूंजीपति –परस्त एवं मजदूर विरोधी संशोधन तथा जमीन-खनिज आदि प्राकृतिक संसाधनो की लूट तथा  किसानो की बरबाद करनेवाली अध्यादेश के विरोध के लिए आयोजित अभियान की एक कङी है।

उन्होने कहा कि पूँजीपतियों के समक्ष आत्मसमर्पन करनेवाली  तथा  मजदूरो  किसानो पर तानाशाही चलाने का इरादा रखने वाली हो सरकारी कोशिशो में नही चलने दी जाएगी.मजदूरो किसानो और अन्य लोगो पर ये अत्याचार नही होने नही दिया जाएगा, ये अंदोलन की शुरुआत है ।अगर सरकार इस अध्यादेश को वापस नही लेती है तो विस्थापन विरोधी एकता मंच एवं प्रगतिशील नागरिक एकता मंच इस मामले को लेकर जोरदार अंदोलन करेगा.

इस दौरान केन्द्र सरकार के विरोध मे  नारे भी लगाये गए,कार्यक्रम के दौरान मदन मोहन, कपूर बागी, सियाराम शर्मा, जितेन्द्र शर्मा, ललित कुमार, अवधेश कुमार सहीत कई प्रमुख लोगो मौजुद थे.
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।