होली-बजोली पॉवर प्रोजेक्ट का विरोध कर रहीं 32 महिला आंदोलनकारी गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में होली-बजोली पॉवर प्रोजेक्ट के विरोध में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठी 32 महिलाओं को पुलिस ने 25 मार्च 2014 को महिला पुलिस कर्मियों पर हमला करने एवं कंपनी की मशीनरी की तोड़फोड़ करके कानूनी व्यवस्था बिगाड़ने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। ये महिलाएं लंबे समय से बजोली-होली पावर प्रोजेक्ट की सुरंग का निर्माण गांवों की ओर करने का विरोध कर रही हैं। इनकी मांग है कि सुरंग का निर्माण दूसरी ओर किया जाए जहां आबादी नहीं है। ज्ञातव्य है कि पांच दिन पहले ही यहाँ पर सुरंग बनाते समय हादसा हो चूका है जिसमे कई घरों को क्षति हुई है।
25 मार्च 2014 (मंगलवार) को डीएसपी हैडक्वार्टर जितेंद्र चौधरी की अगुवाई में एक पुलिस दल दो बसों व दो छोटे वाहनों में होली पहुंचा।
पुलिस ने दिन भर महिलाओं को कंपनी से समझौता करने एवं आंदोलन खत्म करने के लिए समझाने का प्रयास किया। महिलाएं नहीं मानीं और महिलाओं ने सोचने के लिए तीन दिन का समय मांगा। इस पर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए उन्हें गिरफ्तार करने चेतावनी दी और महिलाएं भी गिरफ्तारी देने को तैयार हो गईं।
इस बीच शाम को जब आन्दोलनकारी महिलाओं ने निर्माण कार्य के लिए लगाई गई कंप्रेशर मशीन बंद करके काम रुकवाने की कोशिश की तो महिला पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इस पर महिलाएं भड़की उठीं और पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पहले तो पुलिस उन्हें वाहनों तक लाई और फिर उन्हें पुलिस की गाड़ी में धकेला गया। इस दौरान वाहन पर चढ़ने का विरोध कर रही महिलाओं पर बल भी प्रयोग किया गया है।
हिमालय निति अभियान के गुमान सिंह कहते है कि प्रशासन कंपनी की दलाली कर रह है. उन्होंने आगे कहा कि  आखिरी सांस तक परियोजना का विरोध किया जायेगा।

Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।