प्रधानमंत्री जी : यह परमाणु प्लांट का नहीं लोगों की मौत का उदघाटन है !

हरियाणा के फतेहाबाद जिले के गोरखपुर गाँव में परमाणु प्लांट  के शिलान्यास के खिलाफ व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आगमन के विरोध में आजादी बचाओ आन्दोलन के तत्वाधान में आस-पास के गांव के स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया तथा प्रधानमंत्री वापस जाओ के नारे, पुरे क्षेत्र में  दीवार लेखन किया गया ।

यशवीर आर्य ने प्रधानमंत्री मनमोंहन सिंह को नाकाम प्रधानमंत्री बताते हुए कहा की जिसने अपनी  योजनाओं तक को  नामकाम मानलिया वो इस नाकाम प्रोजक्ट का शिलान्यास कैसे कर सकता है।

गोरखपुर गांव के आस-पास के गांव  जिसमें धागड़, बड़ोपल,खजुरी जाटो, काजल हेड़ी, खारा खेडी, जांडली में  स्थानीय लोगों ने जमकर प्रदर्शन करतें हुए पुतला फूका। दीवार लेखन व विरोध के चिन्हो को प्रशासन ने मिटाने का पुरा प्रयास किया।

दिल्ली विश्वविघालय से आए प्रो0 विष्णुप्रकाश श्रीवास्तव ने कहा की एन पी सी आइ एल सरकार की 10 हजार करोड़ की सबसीडी पर बनने वाला यह सफेद हाथी है। जो वर्तमान में आर्थिक समस्याओं को बढ़ा कर अर्थव्स्था पर चोट करेगा। क्योकि इस प्रोजेक्ट पर वर्तमान में 22 हजार करोड़ की लागत  व्यय होगी और वनते-वनतें 50 हजार करोड़ के आस-पास की लागत का प्रोजेक्ट होगा जिसका खर्च-जनता की जेब पर असर डालेगा।

जीव दार्शनिक व आजादी बचाओं आंदोलन के राष्ट्रीय संयोंजक मनोज त्यागी जी इस पर जोर डाले हुए कहा कि परमाणु बिजली घर से निकलने वाले रेडिऐशन से आस-पास के 20 किलोमिटर के दायरे में रहने वाले जीव जन्तु व मानव जगत पर बुरे प्रभाव व गम्भीर असर पडे़गें और विभिन्न समस्या उभरेगी
















Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।