इंदिरा सागर बांध: प्रत्याशियों से पुनर्वास पर रुख स्पष्ट करने को कहा लोगों ने


आगामी मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव के पूर्व इंदिरा सागर प्रभावितों ने नर्मदा बचाओ आन्दोलन के तहत  खंडवा, हरदा और देवास जिलों में 6 जगह लोक मंच कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया है. मान्धाता, हरसूद, हरदा, खातेगांव और बागली विधान सभा सीटों के क्षेत्र में यह लोकमंच 16 नवम्बर से 21 नवम्बर तक आयोजित किये जायेंगे. इन लोकमंचो में बड़ी संख्या में विस्थापित एकत्र होकर सभी प्रत्याशियों को आमंत्रित कर उनसे विस्थापितों के पुनर्वास के मुद्दे पर संकल्प और शपथ पत्र माँगा जायेगा.

उल्लेखनीय है कि इंदिरा गत 20 वर्षों में नर्मदा घाटी में बन रहे विशालाकाय इंदिरा सागर समेत अन्य बांधों से विस्थापित होने वाले हजारों लाखों प्रभावितों के साथ ऐतिहासिक अन्याय हुआ है. इंदिरा सागर बांध में देश का सबसे बड़ा और सबसे बुरा विस्थापन किया गया है जहाँ लोगों की बिजली व् पानी काटकर, बुलडोज़र से एव् पुलिस खड़ा करके लोगों को अपने हाथों से खुद के घरों को तोड़ने के लिए मजबूर किया गया और हजारों को बिना पुनर्वास और मुआवजा डूबा दिया गया. जमीन के बदले जमीन और न्यूनतम 2 हेक्टेयर जमीन की नीति होने के बावजूद एक भी प्रभावित को जमीन नहीं दी गयी जिस कारण किसान भूमिहीन बन गया. स्वंय सरकारी आंकड़े बताते हैं कि लगभग 90% विस्थापित किसान कोई जमीन नहीं खरीद पाए दूसरी ओर मजदूर पूरी तरह बर्बाद हो गए. आज वर्षो बाद भी इंदिरा सागर विस्थापितों को पुनर्वास के अधिकार नहीं मिले हैं और ये विस्थापित बेरोजगार और बेइज्जत होकर दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं.

कैसे होगा लोकमंच 

विस्थापितों द्वारा नर्मदा बचाओ आन्दोलन के तहत आयोजित इस लोक मंच का आयोजन सम्पूर्ण निष्पक्षता के साथ किया जायेगा. लोक मंच के आयोजन में निम्न नियमों का कड़ाई से पालन किया जायेगा :

  • लोक मंच सभा स्थल पर किसी भी प्रत्याशी/दल का कोई झंडा या बैनर नहीं लगेगा.
  • लोक मंच की करवाई के दौरान किसी भी प्रत्याशी/दल के पक्ष या विरोध में कोई नारा नहीं लगाया जायेगा. 
  • प्रत्याशी अपने वक्तव्य को विस्थापितों द्वारा उठाये गए मुद्दों पर केन्द्रित रखेंगे.
  • लोक मंच का संचालन आयोजनकर्ता द्वारा चयनित एक समिति द्वारा किया जायेगा.

लोकमंच कार्यक्रम 

इंदिरा सागर क्षेत्र में लोक मंच कार्यक्रम निम्न प्रकार है:

विधान सभा क्षेत्र : खातेगांव  स्थान: ग्राम मेल-पिपलिया      16.11.13   समय: दोपहर 2 से 5 बजे
विधान सभा क्षेत्र : बागली   स्थान: सतवास पुनर्वास स्थल   17.11.13  समय: दोपहर 12 से 3 बजे
विधान सभा क्षेत्र : मान्धाता स्थान: ग्राम नंदाना                 18.11.13  समय: दोपहर 12 से 3 बजे
विधान सभा क्षेत्र : हरदा    स्थान: ग्राम उंवा                        19.11.13 समय: दोपहर 12 से 3 बजे
विधान सभा क्षेत्र : मान्धाता स्थान: ग्राम मालूद                 20.11.13  समय: दोपहर 12 से 3 बजे
विधान सभा क्षेत्र : हरसूद   स्थान: ग्राम दगडखेडी              21.11.13  समय: दोपहर 12 से 3 बजे

इसी प्रकार महेश्वर, अपर बेदा, मान व् बरगी बांधों के क्षेत्र में भी लोक मंचों का आयोजन किया जा रहा है.

किन मुद्दों पर होगा लोकमंच 

लोक मंच कार्यक्रम के दौरान इंदिरा सागर प्रभावितों की निम्न मांगों पर प्रत्याशियों के संकल्प के साथ शपथ पत्र माँगा जायेगा :


  • वह एक ऐसे देश के निर्माण के लिए, जहाँ संविधान की भावना के अनुरूप धर्म, जाति, सम्प्रदाय या लिंग के आधार पर कोई भेद नहीं होगा और किसान-मजदूरों का सम्मान करते हुए उनके पक्ष में नीतिया बनेंगी, के लिए लगातार कार्य करेगा. 
  • पुनर्वास नीति के अनुसार हर विस्थापित किसान परिवार को जमीन के बदले जमीन व् न्युनतम 5 एकड़ जमीन दी जाये. सरकार प्रभावितों को सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार या तो निजी जमीन खरीद कर दे या विस्थापित को निजी जमीन खरीदने में मदद करे.
  • ओम्कारेश्वर परियोजना की भांति भूमिहीन परिवारों को 2.5 लाख रूपये का अनुदान दिया जाये.
  • बांध की डूब टापु में आने वाली जमीन व् मकान का अधिग्रहण कर विस्थापितों का पुनर्वास किया जाये. जिन व्यक्तियों की जमीने डूब गयी है परन्तु घर नहीं डूबे हैं उनके घरों के अधिग्रहण कर पुनर्वास किया जाये, इंदिरा सागर बांध प्रभावित 255 गावों में से अंतिम 41 गावों में बैक वाटर सर्वेक्षण कर डूब में आने वाले परिवारों का पुनर्वास किया जाये, अनेक गावों के लिए पुनर्वास स्थल नहीं बनाये गए है. उनका निर्माण कर विस्थापितों को पुनर्वासित किया जाये, गत वर्ष डूब में आयी जमीनों की फसलों की वास्तविक क्षतिपूर्ति दी जाये, बची हुई जमीनों पर पहुँचाने के लिए सड़क की व्यवस्था की जाये. भू-अर्जन व् पुनर्वास के अन्य सभी मुद्दों पर करवाई की जाये. 


अपील
नर्मदा बचाओ आन्दोलन दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत देश में इस लोकतंत्र को सजग, शक्तिशाली और सार्थक बनाने के लिए एवं अपने अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए अपील करता है कि सभी इन “लोक मंच” कार्यक्रमों में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर इन्हें सफल बनायें.


आलोक अग्रवाल, लक्ष्मीनारायण मीना, रामविलास राठौर, लोकेश, उत्तम पटेल, छोटूभाई  

Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।