मुलताई गोलीकांड के दोषियों पर कार्यवाही हो : किसान संघर्ष समिति

15 वर्ष पहले मुलताई गोलीकांड में अपना पति खो चुकी परमंडल गांव की लक्ष्मी बाई, मोही गांव की सुखी बाई, मरमंडल की पुसली बाई, रम्भाखेड़ी की उर्मिला बाई गड़ेकर और ताईखेड़ की पार्वती बाई 03 जनवरी 2013 को गोलीकांड के दोशियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उन्हें  कठोर सजा की मांग को लेकर एसपी बैतुल को ज्ञापन सौंपा गया है। पेश है यहाँ पर  किसान संघर्ष समिति का ज्ञापन;

सेवा में,                                                                                                            
पुलिस महानिदेशक 
मध्य प्रदेश शासन, भोपाल (मध्य प्रदेश )

विषय: मुलताई गोलीकांड के दोषी तत्कालीन पुलिस अधीक्षक; एसपी समेत जिम्मेदार पुलिस कर्मियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने बावत।

महोदय,

12 जनवरी 1998 को बैतूल जनपद की मुलताई तहसील में अतिवृष्टि के चलते बर्बाद हुई खेती के उचित मुआवजे की मांग को लेकर शांतिपूर्वक ढंग से मुलताई तहसील पहुंचे निर्दोष किसानों पर पुलिस ने फायरिंग की थी। पुलिस के हथियारबंद सिपाहियों ने कई निहत्थे किसानों पर मुलताई शहर में ही गोलियां बरसाईं, तो कईयों को एक किलोमीटर दूर तक दौड़ाने के बाद गोलियां चलाकर उनकी हत्या की। दिल दहला देने वाले इस नरसंहार में मुलताई तहसील के अलग-अलग गांवों के 22 किसानों समेत कुल 24 लोगों की पुलिस की गोलियां लगने से मौत हो गई थी, जबकि 150 किसान घायल हो गए थे। मध्य प्रदेश पुलिस की इस बर्बर कार्रवाई के खिलाफ पूरे देश और दुनिया के सामाजिक, राजनैतिक और मानवाधिकार संगठन लगातार आवाज उठाते रहे हैं और घटना की कड़े शब्दों में आलोचना कर गोलीकांड के लिए दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई की मांग कई मर्तबा उठा चुके हैं, लेकिन घटना के 15 साल बाद भी पुलिस के किसी दोषी अधिकारी के खिलाफ आज तक प्रकरण दर्ज नहीं हो सका है। इससे शहीद किसानों के परिजनों को न्याय नहीं मिल पाया है और उनमें जहां गहरा आक्रोश व्याप्त हो रहा है, वहीं आम जनमानस में कानून व्यवस्था और म.प्र पुलिस की कार्यप्रणाली के प्रति अविश्वास की भावना पनप रही है। 

मुलताई ही नहीं, देश और दुनिया के विभिन्न सामाजिक, राजनैतिक संगठनों की नजर मुलताई में हुए गोलीकांड और उसके बाद की गई पुलिस की कार्यवाही पर टिकी है। प्रभावित शहीद किसानों के परिजनों की भावनाओं और देश-दुनिया से उठ रही मांग के बीच मध्य प्रदेश किसान संघर्ष समिति सभी 24 शहीद किसानों की हत्या का प्रकरण दर्ज करवाने को संकल्पबंद्ध है।
अतः आपसे निवेदन है कि गोलीचालन के लिए जिम्मेदार तत्कालीन दोषी एसपी समेत अन्य पुलिस अधिकारियों के खिलाफ 11 जनवरी 2013 तक मुकदमा पंजीकृत कर मामले की निष्पक्ष जांच कराएं, ताकि शहीद किसानों के परिवारों को न्याय मिल सके। ऐसा नहीं होने की स्थिति में शहीदों के परिजन और किसान संघर्ष समिति 12 जनवरी 2013 को मुलताई में होने वाले 15वें शहीद किसान 
स्मृति सम्मेलन में देशभर से पहुंचने वाले विभिन्न राजनैतिक, सामाजिक, मानवाधिकार, किसान संघठनों के हजारों नेताओं, कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में न्याय पाने के लिए उचित कदम उठाएगी।
12 जनवरी 1998 को मुलताई पुलिस गोलीचालन में शहीद हुए किसानों की सूची-
1. बाबूलाल हिंगवे, निवासी ग्राम परमंडल, तहसील मुलताई
2. मिश्री लाल हारोडे, निवासी ग्राम परमंडल, तहसील मुलताई
3. राजेंद्र हिंगवे, निवासी ग्राम परमंडल, तहसील मुलताई।
4. नंदकिशोर राउत, निवासी मुलताई, जिला बैतूल।
5. टंटीजी धाकड़, निवासी ग्राम ताईखेड़ा, तहसील मुलताई।
6. अशोक रावजी देशमुख,निवासी ग्राम आष्टा, तहसील मुलताई
7. गब्बूजी गड़ेखर, निवासी ग्राम रंम्भाखेड़ी, तहसील मुलताई।
8. राजकुमार डोंगे, निवासी ग्राम हिडली, तहसील मुलताई।
9. शिवपाल बरपेटे, निवासी ग्राम धारनी, मुलताई।
10. भीमराव नरवरे, निवासी ग्राम सर्रा, तहसील मुलताई।
11. कैलाश बोबडे, निवासी मुलताई।
12. ़़ऋषिकुमार साहू, निवासी ग्राम कामथ, तहसील मुलताई।
13. मंगल पंवार, निवासी मुलताई, जिला बैतूल।
14. दुर्गा प्रसाद उर्फ टिक्कू पंवार, निवासी बरई गांव।
15. रामकिशोर रघुवंशी, निवासी ग्राम महतपुर, मुलताई।
16. डोमा सूर्यवंशाी, निवासी ग्राम सिरखेड़, मुलताई।
17. पृथ्वी सिंह चौहान, निवासी ग्राम मोही, मुलताई तहसील।
18. बाबूलाल सोनी, निवासी ग्राम मोही, मुलताई।
19. सूरजन सिंह कुमरे, निवासी ग्राम पाटाखोड़ा, तहसील मुलताई
20. सकल वल्द चंदू उइके, निवासी ग्राम मोरंड, तहसील मुलताई।
                                                              

21. साधूराम वल्द झिंगा कुमार, निवासी ग्राम मोरंड, मुलताई।
22. साहबलाल वल्द मौजी लोखण्डे, निवासी ग्राम मोरंड, मुलताई।
23. धीरंिसह फायर ब्रिगेड का चालक, निवासी बैतूल।
24. बाजीराव, चालक-फायर ब्रिगेड, बैतूल।

                  
लक्षमण बोरबन        टंटी चौधरी      जगदीश दोड़के         अनिरूद्ध गुरूजी
प्रदेश सचिव          प्रदेश अध्यक्ष        जिलाध्यक्ष, बैतूल             प्रदेश महामं़त्री
                  किसान संघर्ष समिति, मध्य प्रदेश
- शहीद किसान स्मृति कुटीर, स्टेशन रोड, मुलताई, जिला बैतूल। पिन-460661, फोन-07147-224742
नम                                                                         हस्ताक्षर
अनिल सोनी, संस्थापक सदस्य, किसान संघर्ष समिति, म.प्र.
सुश्री गुड्डी, राष्ट्रीय समन्वयक-युसुफ मेहरअली युवा बिरादरी
जबर सिंह वर्मा, राष्ट्रीय महामंत्री-अखिल भारतीय राष्ट्र सेवा दल
सीता राम नरवरे, संस्थापक सदस्य किसान संघर्ष समिति, मुलताई
गुलाब जी देशमुख, अध्यक्ष ब्लाक अध्यक्ष, पट्टन।
सत्य प्रकाश उर्फ छोटू बचले, अध्यक्ष आमला ब्लाक।

शहीद किसानों के परिजनों के हस्ताक्षर -
श्रीराम राउत, परमंडल गांव, तहसील मुलताई, बैतूल
लक्ष्मी बाई, गांव परमंडल, तहसील मुलताई, जिला बैतूल
झनक लाल, निवासी गांव धारनी, तहसील मुलताई
सुखी बाई निवासी ग्राम मोही, मुलताई
पुसली बाई, निवासी गा्रम परमंडल, मुलताई
उर्मिला बाई गड़ेकर, निवासी ग्राम रम्भाखेड़ी, मुलताई
पार्वती बाई, निवासी ग्राम ताईखेड़ा, मुलताई, बैतूल

प्रतिलिपि:
1. महामहीम राष्टपति जी, भारत सरकार।
2. प्रधानमंत्री जी, भारत सरकार।
3. महामहीम राज्यपाल, मप्र।
4. मुख्यमंत्री, मध्य प्रदेष सरकार।
5. पुलिस अधिक्षक, बैतूल जनपद

अध्यक्ष
किसान संघर्ष समिति, मप्र

Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।