पेंच व्यपवर्तन विरोधी आंदोलन: आंदोलनकारियों पर कसा जिला प्रशासन का शिकंजा

देश के नागरिकों से अपील

डॉ. सुनीलम को जेल भेजने के बाद जिला प्रशासन ने पुरे छिंदवाडा क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दिया है. 4 नवम्बर 2012 से भूमि अधिग्रहण शुरू करने का आदेश देकर लोगों को गाँव खाली करने के लिए धमकाना शुरू कर दिया है. लोग इस जबरदस्ती के खिलाफ इकट्ठा हो बाम्हनवाड़ा में 31 अक्टूबर 2012 से धरना शुरू कर दिया. प्रख्यात समाजकर्मी मेधा पाटकर कल से दो दिन छिंदवाडा के बाम्हनवाड़ा में किसानों के धरने में रहेंगी.

आप सभी साथियों से अनुरोध है कि अडानी-पेंच परियोजना के खिलाफ और इस जबरदस्ती के खिलाफ इस अभियान में शामिल हों और 3 नवम्बर 2012 को बाम्हनवाड़ा पहुंचे.
अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें
मधुरेश (09818905316)
झिंगा वर्मा-बाम्हनवाड़ा (0998188458)
बलराम पटेल-बाम्हनवाड़ा (09993494625)
पेंच व्यपवर्तन के विरोध में बाम्हनवाड़ा में 31 अक्टूबर 2012 से लगभग एक हजार किसान अपनी जमीन बचने के लिये धरना दे रहे है. पुलिस ने प्रभावित गावों कि सड़कों पर चैक पोस्ट लगाकर बाम्हनवाड़ा धरना स्थल पर जाने वालों को रोक रही है इसके वावजूद भी लगातार किसानों कि संख्या धरना स्थल पर बढ़ रही. पुलिस ने अभी सिगोरी, चोराई, देवरी, छिगन कोलोनी में चैक पोस्ट लगाकर आंदोलनकारियों को रोकने का काम शुरूकर चुकी है.

वही प्रशासन ने 4 नवम्बर तक जमीने खाली करने का आदेश जारी कर रखा है पुरे जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है

आज सुबह मुलताई किसान आन्दोलन की वकील तथा सामजिक कार्यकर्ता सुश्री आराधना भार्गव को मध्य प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वे अपनी माँ की तेरहवीं में शामिल होने के लिए अपने घर छिन्दवाड़ा आई थी। डॉ. सुनीलम के बाद आराधना भार्गव की यह गिरफ़्तारी वहां के जनांदोलन को कुचलने की दृष्टि से की गई है।
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।