अवैध खनन विरोधी आंदोलन: बर्बर दमन के बिच जारी है

गुजरी 23 अक्टूबर को राजस्थान के सीकर जिले की नीम का थाना तहसील के ग्राम डाबला में जारी अवैध खनन विरोधी आंदोलन के साथियों को पाटन पुलिस ने फिर एक फर्जी केस में गिरफ्तार किया. पुलिस, खनन माफिया एवं स्थानीय विधायक की मिलीभगत से आंदोलनकारियों का दमन जारी है.

ताजा घटनाक्रम में ग्राम डाबला में अवैध खनन के खिलाफ चल रहे संघर्ष के एक महतवपूर्ण साथी जय भगवन को पाटन पुलिस ने 23 अक्टूबर को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने 25 अक्टूबर को एक फर्जी FIR 345/2012 दर्ज कि है. उल्लेखनीय है कि गत दो तीन वर्ष से अवैध खनन के खिलाफ व अपने पहाड़ को बचाने के लिए शांतिपूर्वक आंदोलनरत ग्रामीण जनता पर जिला प्रशासन की ओर से बर्बर दमन किया जा रहा है।


इस घटना के विरोध में डाबला ग्राम के निवासी रोड पर जाम लगाकर बैठ गये, दो दिन तक रोड जाम रहा और सैकड़ों ट्रक रोड पर खड़े रहे. आखिर में प्रशासन को आंदोलनकारियों की मांगों को स्वीकारकरना पड़ा. आये दिन पुलिस उत्पीडन के विरोध में डाबला ग्रामवासियों ने मुख्यमंत्री, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,पीयूसीएल, मुख्य सचिव इतियादी को ज्ञापन भेज कर मांग की है की पाटन थानाध्यक्ष को बर्खास्त कर, डाबला ग्रामवासियों पर दर्ज झूठे मुकदमों को सीबी सीईडी से जांच कर दोषियों को शक्त सजा दी जाये.

ज्ञापन को पढाने के लिए तस्वीर पर क्लिक करें



Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।