दयामनी बारला के समर्थन में राजभवन पर प्रदर्शन

यह विडियो सामाजिक कार्यकर्ता दयामनी बारला है जो इन दिनों न्यायिक हिरासत में रांची जेल में हैं। उन्होंने गुज़री 16 अक्टूबर को छह साल पुराने मामले में आत्मसमर्पण किया था। यह मामला मनरेगा से जुड़े गड़बड़झाले के ख़िलाफ़ उनकी अगुवाई में हुए प्रदर्शन को लेकर दर्ज़ किया गया था। 18 अक्टूबर को कोर्ट से बेल भी मिल गई परंतु वो जेल से बहार नहीं आ पाई. जब 19 अक्टूबर को उनके साथी जेल से लेने गए तो पता चला कि उन्हें एक नए मामले गिरफ्तार कर लिया गया है. कोर्ट में अब अगली सुनवाई 29 अक्टूबर को होनी है. इस दिन खूंटी, कर्रा, तोरपा, रनिया, कामडरा और बसिया के आदिवासी दयामनी बरला की रिहाई की मांग को ले कर रांची में राजभवन के सामने प्रदर्शन करेंगें. प्रदर्शन के बाद राज्यपाल को ज्ञापन दिया जाएगा.
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।