पेंच व्यपवर्तन परियोजना के विरोध में भूला मोहगांव में प्रतिरोध दिवस मनाया गया


छिंदवाडा के भूला मोहगांव में 22 मई 2012 को प्रतिरोध दिवस के रूप में महापंचायत का आयोजन किया गया। इस मौके पर साथी सुनीलम ने किसान महापंचायत को संबोधित करते हुये कहा कि पेंच व्यपवर्तन परियोजना को रद्द किये जाने संबंधी समाचार उन्हे अखबारों में पढ़ने को मिला । उन्होनें कहा कि पहले की तरह इस बार भी बयान जल संसाधन विभाग के प्रमुख सचिव द्वारा दिया गया है लेकिन पुराना रिकार्ड यह बतलाता है कि  यह घोषणा किसानों को भ्रमित करने के उद्देश्य से की जा रही है। डॉ. सुनीलम ने जिले के सांसद तथा दोनों पार्टियों के विधायकों तथा पार्टियों के अध्यक्षों से मांग की है वे परियोजना के रद्द होने के संबंध में अपनी स्थिति स्पष्ट करें । डॉ. सुनीलम ने कहा कि संसदीय समिति द्वारा     भू-अर्जन कानून को संसद को सौंपा जा चुका है, संसदीय दल में सभी पार्टियों के सांसद हैं जिसमें सुश्री अनुसुईया भी शामिल रही हैं, डॉ. सुनीलम ने जिलाधीश छिंदवाड़ा से मांग की है वे छिंदवाड़ा जिले में सभी परियोजनाओं में भूअर्जन की कार्यवाही तत्काल रोकने के आदेश जारी करें तथा प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से परियोजना को लेकर के प्रशासन की स्थिति स्पष्ट करें ।


प्रतिरोध दिवस के अवसर पर किसान संघर्ष समिति के प्रमुख कुंजबिहारी जी पटेल, कुंजबिहारी शर्मा, गप्पू यादव, युसुफ भाई, मेखलाल पटेल, घूड़ो पटेल, रगडों पटेल, बलराम वर्मा, सुरेश वर्मा शिक्षक, छिंगा वर्मा, राजकुमार वर्मा, अशोक कवरेती, कलम सिंग पटेल, देवीचंद्रवंशी, महेश पटेल, दिनेश चंद्रवंशी, भूरा चंद्रवंशी, सुखलाल मसराम, अभिमान मसराम ने सभा को संबोधित करते हुये  यह संकल्प दोहराया कि किसी भी गुंडागर्दी तथा दमन की कार्यवाही से हम विचलित नहीं होंगे तथा अपनी एक-एक इंच जमीन की रक्षा के लिये हर कुर्बानी देने को तत्पर रहेंगे।
- डॉ. सुनीलम
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।