आंध्रप्रदेश के किसानों ने भी तेज किया परमाणु संयंत्र का विरोध

हरियाणा के गोरखपुर तथा महाराष्ट्र के जैतापुर में प्रस्तावित परमाणु संयंत्र के विरोध की चिंगारी को जापान की त्रासदी ने हवा दी है और अब इसकी लपटें महाराष्ट्र (जैतापुर) के पड़ोसी राज्य आंध्रप्रदेश तक पहुंच गई हैं।  सिरीकाकुलम जिले के रणस्थलम मंडल की 30 ग्राम पंचायतों ने मोर्चा बनाकर कोव्वाडा गांव में प्रस्तावित परमाणु ऊर्जा संयंत्र की स्थापना के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है।

पड़ोसी राज्य के जैतापुर परमाणु संयंत्र के विरोध को मिल रहे समर्थन से उत्साहित रणस्थलम मंडल की 30 ग्राम पंचायतों के लगभग 150 गांवों के किसानों ने 18 मार्च 2011 को रणस्थलम में रैली निकालकर केन्द्र व राज्य सरकार से परियेाजना को रद्द करने को कहा है।

प्रस्तावित परमाणु संयंत्र के लिए 2,000 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया जाना है। हालांकि अभी भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया की शुरूआत नहीं हुई है। किसान किसी भी कीमत पर अपनी भूमि इस तरह की विनाशकारी परियोजना के लिए देने को तैयार नहीं हैं।

Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।