गंगा एक्सप्रेस-वे तथा भूमि अधिग्रहण का विरोध तेज़ : किसान करेंगे बलिया से नोएडा तक मार्च

20 अगस्त 2011 को इलाहाबाद में एक बैठक हुई जिसमें उ. प्र. में गंगा एक्सप्रेस-वे और अन्य परियोजनाओं के लिये हो रहे भूमि अधिग्रहण के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलनों के प्रतिनिधि शामिल हुए। इसमें तय किया गया कि इन सभी तरह के भूमि अधिग्रहणों के खिलाफ प्रभावित जिलों से होते हुए किसानों का एक वाहन मार्च निकाला जायेगा, जो 30 अक्टूबर 2011 को बलिया के नरही गांव से शुरू होगा और उ. प्र. के उन 17 जिलों, जिनमें गंगा एक्सप्रेस-वे प्रस्तावित है, होता हुआ ग्रेटर नोएडा के गांव शाहबेरी में खत्म होगा। मार्च की पूर्व तैयारी के लिये तीन टीमें अलग-अलग जिलों का दौरा करेंगी। पहली टीम बलिया से इलाहाबाद तक पड़ने वाले जिलों, दूसरी टीम इलाहाबाद से फर्रूखाबाद तक पड़ने वाले जिलों और तीसरी टीम फर्रूखाबाद से ग्रेटर नोएडा तक पड़ने वाले जिलों का दौरा करेगी। बलिया से इलाहाबाद तक अमरनाथ जी, बलवन्त जी तथा शिवाजी, इलाहाबाद से फर्रूखाबाद तक रामाश्रय सिंह, रामभूषण सिंह, अरूण जी तथा फर्रूखाबाद से ग्रेटर नोएडा तक मनेाज त्यागी, डा0 कृश्णस्वरूप आनन्दी तथा जे.पी.सिंह दौरा करेंगे।
इस बैठक में तीन टास्क फोर्स भी गठित की गयीं जो इन तीनों हिस्सों में चल रहे आंदोलनों, भूमि अधिग्रहण के तथ्यों की जानकारी एकत्र करेगी। यह भी तय किया गया कि किसान संघर्ष संदेश कृषि भूमि बचाओ मोर्चानाम से समाचार बुलेटिन भी निकाला जायेगा। इसके लिये सभी साथी अपने-अपने स्थानों से समाचार भेजेंगे। इस बैठक में चन्दोली से जय शंकर पाण्डे, हौशिला यादव, गाजीपुर से कृषि भूमि बचाओ मोर्चा के रामाश्रय यादव, अमरनाथ यादव, कृषि भूमि बचाओ मोर्चा से जे.पी. सिंह (बलिया), देवरिया से भूमि बचाओ किसान संघर्ष समिति के शैलेश कुमार मिश्र, इलाहाबाद से रवीन्द्र, आजादी बचाओ आंदोलन के प्रो. बनवारी लाल शर्मा, डा. कृष्ण स्वरूप आनन्दी, मनोज त्यागी, प्रतापगढ़ से कृषि भूमि बचाओ मोर्चा के अरूण सिंह, भटनी (देवरिया) से भूमि बचाओ किसान संघर्ष समिति के श्री त्रिवेणी सिंह, फतेहपुर से प्रिंसिपल रामभूषण सिंह, शहरी गरीब संघर्ष मोर्चा से जीतेन्द्र मौर्य शामिल हुए।

Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।