राजनीतिक दलों ने पोस्को हिंसा की न्यायिक जांच की मांग की


ओडिशा में राजनीतिक दलों ने परादीप के पास पास्को इस्पात संयंत्र स्थल पर हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदारठहराते हुए हिंसा के मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग की। यह मांग 15 दिसंबर को की गयी।


कांग्रेस, भाजपा, भाकपा, माकपा, फारवर्ड ब्लाक, राजद और सपा ने पोस्को स्थल तक तटवर्ती लिंक रोड निर्माण सहित परियोजना से संबंधित सभी कार्यों पर पूरी तरह से रोक लगाने की मांग की। इस घटना पर सत्ताधारी बीजद पर हमला करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने कहा कि राज्य सरकार, विशेष रूप से मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, इस हिंसक झड़प के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। उन्होंने साथ ही कहा कि जांच पूरी होने तक प्रस्तावित पोस्को संयंत्र में परियोजना से संबंधित किसी कार्य के लिए इजाजत नहीं दी जाए।

उधर मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पटनायक ने विधानसभा के बाहर संवाददाताओं से कहा, ‘जो हुआ बहुत दुखद था। मामले की जांच की जाएगी और कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बार-बार कहती आ रही है कि वह शांतिपूर्ण औद्योगिकीकरण में भरोसा करती है।पटनायक ने कहा कि पोस्को के प्रस्तावित परियोजना स्थल और अन्य क्षेत्रों में शांति बनाये रखी जाएगी। -कल्याण आनन्द
Share on Google Plus

संघर्ष संवाद के बारे में

एक दूसरे के संघर्षों से सीखना और संवाद कायम करना आज के दौर में जनांदोलनों को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है। आप अपने या अपने इलाके में चल रहे जनसंघर्षों की रिपोर्ट संघर्ष संवाद से sangharshsamvad@gmail.com पर साझा करें। के आंदोलन के बारे में जानकारियाँ मिलती रहें।